Click here for Myspace Layouts

मई 03, 2011

तुम कौन हो


मैं सिर्फ एक ही बार निरुत्तर हुआ हूँ | वह भी तब, जब एक मानव ने मुझसे पूछा ' तुम कौन हो ?'
                                                                   - खलील जिब्रान

4 टिप्‍पणियां:

  1. सही है..एकदम सही..!

    अपनी सही पहचान शायद ही कोई बता सके...!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. इस सवाल का उत्तर ढूंढने के लिये ही तो हमें इस दुनिया में भेजा गया है

    उत्तर देंहटाएं
  3. apki ke liye to mere pas shabd bhi kam pad gaye hai... apki ek choti kosish bhut hi nayab hai... main kya kahu?aaj apki vajah se main itne acche kavi ki panktiya pad rahi hu... iske liye thank u kahna bhi kam hoga.. phir bhi bhut bhut thank u very very much...

    उत्तर देंहटाएं

जो दे उसका भी भला....जो न दे उसका भी भला...